सुप्रीम कोर्ट : आधा दर्जन जज लैंड लॉर्ड भी


सुप्रीमकोर्ट के करीब आधा दर्जन जज लैंडलार्ड भी हैं। किसी के पास एकड़ों जमीन है तो किसी के पास छह-छह प्लाट। बड़े शहरों में मकान अलग से हैं। संपत्ति ब्योरे के मुताबिक, जस्टिस दलवीर भंडारी के पास महरौली इलाके में 14 बीघा 15 बिसवा, जोधपुर के ओसिया तहसील में 76 बीघा जमीन है। दिल्ली के तिलक मार्ग पर सागर अपार्टमेंट में 1753 वर्गफीट का फ्लैट, ग्रेटर नोएडा में 292.79 वर्गमीटर का रिहायशी भूखंड, जोधपुर के सरदारपुरा में पैतृकमकान और प्लाट भी है। न्यायमूर्ति जी.एस. सिंघवी व उनकी पत्नी के नाम जयपुर की नारायण सिटी में दो सौ वर्ग गज के दो प्लाट, सनसिटी जयपुर में 542 वर्गफीट का प्लाट है। 155 वर्गगज का एक प्लाट उनकी पत्‍‌नी के नाम है। जयपुर के नजदीक 355 वर्गगज के दो प्लाटों के अलावा सिंघवी जोधपुर पावटा सी रोड पैतृक मकान में भी हिस्सेदार हैं। जस्टिस आरवी. रवींद्रन व उनकी पत्नी के नाम बंगलूर में कुल चार प्लाट हैं और दो मकानों में हिस्सेदारी है। बंगलूर की डिकसन रोड ट्रेड सेंटर की दो यूनिटों तथा रिचमंड टावर की आफिस यूनिट में भी उनकी हिस्सेदारी है। जस्टिस मुकुंदकम शर्मा व उनकी पत्नी के नाम ग्रेटर नोएडा में 293 वर्गमीटर, नोएडा सेक्टर-105 में 247 वर्गमीटर तथा फरीदाबाद पार्क लैंड में 265 वर्गमीटर के प्लाट हैं। साथ ही गुवाहाटी में 337 वर्गमीटर का दो मंजिला पैतृक मकान भी है। इसमें सीजीएचएस डिस्पेंसरी चल रही है जिससे 32,000 रुपये मासिक किराया आता है। जस्टिस पी.सदाशिवम के पास एक ही मकान चेन्नई में है। वह भी 1999 से किराये पर उठा है, लेकिन उनके और पत्नी के नाम कुल 21 एकड़ से ज्यादा जमीन तमिलनाडु के इरोड जिले में है। जस्टिस बी. सुदर्शन रेड्डी व उनकी पत्नी के नाम दो फ्लैट, दो मकान तथा विरासत में मिली 15 एकड़ से ज्यादा जमीन है। हैदराबाद के रंगारेड्डी जिले के पैतृक मकान में हिस्सेदारी अलग से है। जस्टिस रेड्डी का हैदराबाद जुबली हिल्स में 3500 वर्गफीट का मकान, रंगारेड्डी जिले में 244 वर्गगज का घर तथा पत्नी के नाम हैदराबाद में फ्लैट है। जस्टिस बीएस. चौहान की नोएडा सेक्टर-15 ए में कोठी के अलावा सेक्टर-18 में धर्मपैलेस नामक पारिवारिक फर्म में हिस्सेदारी है। मुजफ्फर नगर के जसोला गांव के पैतृक मकान में हिस्सेदारी के साथ ही 200 बीघा जमीन में तिहाई हिस्सा है। जस्टिस वीएस सिरपुरकर व उनकी पत्नी के नाम नागपुर में दो मकान, एक प्लाट है जबकि जस्टिस दीपक वर्मा के पास भोपाल में 2400 वर्गफीट का प्लाट, दिल्ली के द्वारका में तीन बेडरूम का फ्लैट के अलावा जबलपुर के पैतृक मकान में हिस्सेदारी है। जबलपुर में दस एकड़ जमीन भी है। मुख्य न्यायाधीश केजी बालाकृष्णन के पास फरीदाबाद में 444 वर्गगज का भूखंड, इरनाकुलम कनयानूर में दो बेडरूम फ्लैट और एक भूखंड के अलावा पत्‍‌नी व उनके नाम जमीन भी है। जस्टिस आरएम लोधा के पास मंुबई बांद्रा में फ्लैट तथा जयपुर सिविल लाइंस में मकान है जबकि उनकी पत्नी के पास जयपुर में 400 वर्गगज का भूखंड है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: