जनता ने औरों का राज भी देखा और कांग्रेस का भी




( डॉ सुखपाल सावंत खेडा)- : जहां अमन-चैन रहता है, वहां विकास होता है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार ने हरियाणा में कानून का राज स्थापित कर विकास को गति प्रदान की। इसके विपरीत हरियाणा की जनता ने उन लोगों का राज भी देखा है जिन्होंने इस प्रदेश को तबाह कर दिया था। उनमें और कांग्रेस में यही फर्क है। वे अपने निजी स्वार्थ पूरा करने में लगे थे जबकि कांग्रेस जनता की खुशहाली व तरक्की के लिए काम रही है। आज पूरे हरियाणा की तरक्की सबके सामने है। कांग्रेस ने प्रदेश की तस्वीर बदल डाली है। यह कहना है कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का। वह विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में आज रविवार को करनाल व सिरसा में चुनावी जनसभाओं को संबोधित कर रही थीं। सोनिया ने वाल्मीकि जयंती की बधाई देते हुए विश्वास जताया कि जनता अतीत में प्रदेश को तबाह करने वाली ताकतों को नकार देगी। इसके साथ ही कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के चुनाव प्रचार की शुरुआत हो गई है। सोनिया करनाल में लगभग 12 मिनट और सिरसा में भी लगभग इतना ही समय जनता से रूबरू हुई। इस दौरान उनकी झलक पाने के लिए लोग बेताब रहे। विपक्ष पर वार करते हुए सोनिया ने कहा कि आपने वे दिन भी देखें हैं जब डंडे का राज था। उनके जमाने में 2300 करोड़ का बजट था और इसमें भी प्रदेश की जनता पर कितना खर्च हुआ, यह सब जानते हैं। मुख्यमंत्री हुड्डा की पीठ थपथपाते हुए उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार साल से प्रदेश में शांति व विकास की लहर चल रही है। आज हरियाणा सरकार …जनता ने औरों.. का बजट 11 हजार करोड़ का है जो पहले से पांच गुणा ज्यादा है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व में यूपीए सरकार ने हरियाणा की दिल खोलकर मदद की है। किसान भाइयों के जो 71 हजार करोड़ रुपये के कर्ज माफ किए गए हैं, उससे हरियाणा के किसानों को भरपूर लाभ मिला है और उनके परिवारों को एक नई रोशनी मिली है। कांग्रेस हाईकमान ने जय जवान, जय किसान का नारा दिया। किसान देश के अन्नदाता है और कांग्रेस पार्टी उसका दर्द अच्छी तरह समझती है, इसलिए हरियाणा में 1600 करोड़ रुपये के बिजली के बिल भी माफ किए गए जिससे किसानों व छोटे दुकानदारों को राहत मिली है। हरियाणा देश का पहला ऐसा राज्य है जिसने कर्ज नहीं चुकाने पर किसानों को जेल भेजने का काला कानून भी समाप्त किया। इसके अलावा आज प्रदेश में नहरें बन रही हैं तो बिजलीघर भी बनाए जा रहे हैं, उद्योगों में पूंजी लगाई जा रही है। कमजोर तबके, बुजुर्गो व महिलाओं के लिए अनेक योजनाएं चल रही हैं। जय जवान का सांकेतिक नारा देते हुए उन्होंने कहा कि मैं जब भी यहां आती हूं हरियाणा के मेहनती किसानों व बहादुर सैनिकों की तस्वीर सामने उभर आती है। पूरा देश यहां के किसानों व जवानों पर गर्व करता है। सोनिया गांधी ने स्थानीय समस्याओं के समाधान में सरकार की भूमिका को भी बखूबी उल्लेखित किया। उन्होंने कहा कि सिरसा की तरक्की आपके सामने है। यहां बन रही यूनिवर्सिटी के लिए कांग्रेस की सरकार पैसे दे रही है तो कालेज के लिए भी धन की कमी नहीं रहने दी जाएगी। रेलवे ओवरब्रिज, एक ट्रामा सेंटर, कोर्ट काम्प्लैक्स भी यहां बनाए गए हैं। इसके साथ-साथ ज्यादा पानी इकट्ठा करने के लिए काम किया जा रहा है जिससे हजारों एकड़ जमीन की सिंचाई होगी। यहां की जमीन के रिकार्ड को कंप्यूटराइज्ड किया गया है। ये तमाम उपलब्धियां कांग्रेस सरकार की कार्यप्रणाली को खुद ही उजागर करती हैं। सोनिया गांधी ने कांग्रेस प्रत्याशियों को जनता से रूबरू कराते हुए उन्हें जिताने की अपील की। मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा सोनिया गांधी के मार्गदर्शन में कांग्रेस प्रत्येक वर्ग को साथ लेकर आगे बढ़ी। उन्होंने कहा कि गरीबों को दो लाख 37 हजार 100-100 गज के प्लाट बांटे गए हैं। गन्ने व गेहूं का देश में सबसे ज्यादा मूल्य हरियाणा के किसानों को दिया गया है। बुढ़ापा पेंशन बढ़ाई गई तो साथ ही उन्हें मुफ्त दवा देने की योजना लागू की गई। सांसद डा. अरविंद शर्मा ने सोनिया गांधी का अभिनंदन करते हुए कहा कि इस धरती पर जब भी गांधी परिवार का सदस्य आया है तो इस क्षेत्र ने तेजी से विकास किया है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि करनाल संसदीय क्षेत्र कांग्रेस भारी बहुमत से जीत दर्ज करेगी। डा. शर्मा ने सोनिया गांधी को स्मृतिचिह्न व शाल भेंट की। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष फूलचंद मुलाना ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर उनके साथ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पृथ्वीराज चव्हाण, केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा, सांसद डा. रामप्रकाश, सांसद अशोक तंवर, पूर्व मंत्री विनोद शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री विप्लव ठाकुर, चुनाव प्रभारी राजू भाई परमार, सिरसा जिला कांग्रेस प्रधान होशियारी लाल शर्मा समेत करनाल व सिरसा जिले के सभी हलकों के कांग्रेस प्रत्याशी मौजूद थे। वापस लाएंगे हरियाणा.. करीब पांच मिनट तक कुलदीप बिश्नोई को बोलने नहीं दिया। हजकां सुप्रीमो का अभिवादन करने के लिए उनके समर्थकों ने मंच के सामने बनी दोनों डी तोड़ दी। करीब 15 मिनट के भाषण में कुलदीप ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को महंगाई और मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा को बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने बार-बार चौ. भजनलाल के सपनों के उन्नत हरियाणा का जिक्र किया। जनक्रांति महारैली के मंच पर चौ. भजनलाल, उनकी धर्मपत्नी जसमा देवी और रेणुका बिश्नोई पूरे समय मौजूद रहे। हलका प्रत्याशियों के लिए भी मंच पर बैठने की व्यवस्था की गई थी। प्रत्येक हजकां प्रत्याशी ने मंच पर आने के बाद भजनलाल और जसमा देवी के पांव छूकर आशीर्वाद लिया तथा कुलदीप से हाथ मिलाया। कुलदीप के भाषण के बाद चौ. भजनलाल करीब दो मिनट तक बोले। उन्होंने कहा कि कुलदीप मेरा बेटा है, उसे राज चलाना आता है, आप उसमें मेरी छवि देखकर वोट दे दो। भजनलाल ने कहा कि उन्होंने कुलदीप को हर व्यक्ति के काम करने के लिए बोल दिया है। कुलदीप के मुख्यमंत्री बनने के बाद प्रदेश के किसी भी व्यक्ति को अपने काम कराने में परेशानी नहीं आएगी। कुलदीप ने कहा कि उनके परिवार पर करीब 50 साल से लोगों का आशीर्वाद चला आ रहा है। इस अवधि में चौ. भजनलाल के जो काम अधूरे रह गए हैं, हजकां सरकार उन्हें पूरा करने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव से पहले महंगाई और बेरोजगारी खत्म करने का वादा किया था, मगर दोनों समस्याओं में बढ़ोतरी हुई। पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि हो गई तथा लोगों को बिजली, पानी और सिंचाई के लिए जल उपलब्ध नहीं हो सका। मुख्यमंत्री सिर्फ अपने हलके में बिजली और पानी देकर पूरे प्रदेश की वाहवाही बटोरने का इरादा रखते हैं, जो कभी पूरा नहीं हो सकेगा। कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि चौ. भजनलाल ने कभी बिरादरी और क्षेत्रवाद की राजनीति नहीं की है। वह छत्तीस बिरादरियों के नेता हैं और पूरे प्रदेश में उन्होंने दिल खोलकर नौकरियां बांटी हैं। भजनलाल ने उन्हें भी यही राजनीतिक दीक्षा दी है। कुलदीप ने कहा कि हजकां राज्य में बेरोजगारी निरोधक कानून लागू कर प्राइवेट संस्थानों में हरियाणा के 80 प्रतिशत युवाओं को नौकरियां प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि यदि 365 दिन की अवधि में वह राज्य में 1.10 लाख नौकरियां नहीं दे पाए तो 366वें दिन खुद ही मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देंगे। हजकां सुप्रीमो ने याद कराया कि उन्होंने केंद्रीय मंत्री और भजनलाल ने राज्यपाल के पद ठुकराकर संघर्ष का रास्ता चुना है। अगर फिर भी उन्हें संघर्ष का फल नहीं दिया गया तो पवित्र राजनीति करने वाला कोई नेता संघर्ष की हिम्मत नहीं जुटा सकेगा। कुलदीप ने कहा कि इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला का प्रदेश में जनाधार खत्म हो चुका है और भूपेंद्र हुड्डा की बातों पर लोगों को यकीन नहीं रहा है। यही कारण है कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को हरियाणा के दौरे पर बुलाया गया है, मगर उन्हें जो रिपोर्ट मिली है, उसके मुताबिक सोनिया की रैलियों में लोग नहीं जुट पाए हैं। हजकां सुप्रीमो ने दो लाख तक के कर्जे माफ करने का ऐलान किया और कहा कि यदि लोग चाहें तो आज ही इतना कर्ज ले सकते हैं। मुख्यमंत्री बनते ही वह एक झटके में सारा कर्ज माफ कर देंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एसवाईएल और हांसी बुटाना नहरों में पानी नहीं ला सकी है। किसान के खेतों की टेल तक भी पानी नहीं पहुंचा है। चौ. भजनलाल ने एसवाईएल नहर निर्माण के लिए जितना काम किया, उससे ज्यादा काम मुख्यमंत्री हुड्डा आज तक नहीं करा पाए हैं। उन्होंने रैली में पहुंचे प्रत्येक व्यक्ति से कम से कम सौ वोट पोल कराने का अनुरोध किया और दावा किया कि राज्य में जल्दी ही आम आदमी की सरकार बनने वाली है। हजकां के वरिष्ठ नेता धर्मपाल मलिक और यूथ विंग के प्रदेश अध्यक्ष राकेश कांबोज ने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार आते ही प्रदेश की सभी समस्याएं खत्म हो जाएंगी। पूर्व सांसद रामजी लाल, पार्टी प्रत्याशी विनोद भयाणा, रण सिंह मान, राव नरेंद्र सिंह, पंडित जिले राम शर्मा, सतपाल सांगवान, कुसुम शर्मा, पवन शाहपुर, देवी लाल और निहाल सिंह मताणा ने भी जनक्रांति महारैली को संबोधित किया। महारैली के बाद करीब बीस मिनट तक कुलदीप अपने समर्थकों से खुले तौर पर मिलते रहे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: