देश की सबसे अमीर महिला पड़ रहीं प्रतिद्वंद्वियों पर भारी!



देश की सबसे अमीर महिला एवं भू-राजस्व मंत्री सावित्री जिंदल हिसार के चुनावी समर में अपने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों पर भारी पड़ रही हैं। धुआंधार चुनाव प्रचार की कमी के बावजूद सावित्री जिंदल के विरोधी उम्मीदवार उनकी राह में रोड़ा नहीं अटका पा रहे हैं। इसकी प्रमुख वजह सावित्री जिंदल के समक्ष हेवीवेट प्रत्याशियों की कमी को माना जा रहा है। भू-राजस्व मंत्री सावित्री जिंदल कुरुक्षेत्र के कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल की माता और पूर्व मंत्री स्व. ओमप्रकाश जिंदल की धर्मपत्‍‌नी हैं। ओमप्रकाश जिंदल के देहावसन के बाद सावित्री ने राजनीति में पदार्पण किया और रिकार्ड मतों से उपचुनाव जीता। इस बार भी सावित्री जिंदल कांग्रेस के टिकट पर हिसार के चुनावी समर में हैं। हजकां ने यहां से पार्षद रामनिवास राड़ा, इनेलो ने नगर परिषद के पूर्व प्रधान हनुमान ऐरन, भाजपा ने जिला शहरी अध्यक्ष रवि सैनी और बसपा ने राजेंद्र कुमार को चुनाव मैदान में उतारा है। हजकां के रामनिवास राड़ा नगर परिषद अध्यक्ष बिहारी लाल के भाई हैं। बिहारी लाल को जिंदल खेमे का मजबूत साथी माना जाता है। चुनाव प्रचार के लिहाज से हिसार का चुनाव धीरे-धीरे गति पकड़ रहा है। प्रमुख स्थानों पर चुनाव कार्यालय खोल दिए गए हैं और बाजारों में जनसभाओं का दौर आरंभ हो गया है। कांग्रेस प्रत्याशी सावित्री जिंदल के पार्टी दफ्तरों में हालांकि भीड़ दिखाई दे रही है, लेकिन चुनाव प्रचार में इनेलो के हनुमान ऐरन और हजकां के रामनिवास राड़ा उनसे कहीं आगे हैं। हिसार में सीवरेज, सड़क, बिजली और पानी के मुद्दों को यदि नजर अंदाज कर दिया जाए तो मतदाता प्रत्याशी की छवि के आधार पर कोई फैसला लेने को तैयार बैठे हैं। मैयड़ गांव के सुखबीर सिंह और रायपुर के राजबीर सिंह की मानें तो पूर्व मंत्री हरि सिंह सैनी के कांग्रेस में शामिल होने का लाभ पार्टी को मिलेगा। पूर्व इनेलो की राज्यसभा सदस्य स्व. सुमित्रा महाजन के राजनीतिक खेमे से कोई मजबूत उम्मीदवार खड़ा नहीं होने का फायदा भी कांग्रेस को मिल सकता है। सुमित्रा महाजन पूर्व विधायक ओमप्रकाश महाजन की धर्मपत्‍‌नी थी। हरि सिंह सैनी और महाजन दो नेता ऐसे हैं, जिनका हिसार की राजनीति में अच्छा खासा हस्तक्षेप रहा है। इनेलो के हनुमान ऐरन को हिसार में व्यापारियों का काफी समर्थन मिल रहा है, लेकिन मजबूत प्रत्याशी के अभाव में हिसार पंजाबी बाहुल्य सीट होने के बावजूद संशय की स्थिति में है। धांसू के जसविंद्र सिंह और तलवंडी राणा के उमेश प्रसाद के अनुसार हजकां उम्मीदवार हिसार में कांग्रेस को अच्छी टक्कर दे सकता था।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: